clotrimazole beclomethasone dipropionate neomycin sulphate cream uses in hindi – जानिए इसके फ़ायदे और नुक्सान इसकी पूरी जानकारी

clotrimazole beclomethasone dipropionate neomycin sulphate क्रीम का उपयोग त्वचा व बाल के कवक संक्रमण,योनि मोनीलिएसिस , दाद , एग्जीमा , कांटेक्ट डर्मेटाइटिस , लाइकेन सिंपलैक्स , लाइकेन प्लेनस , गुदा व वल्वा की खुजली, त्वचा पर होने वाले संक्रमण को दूर करने में किया जाता है।

इस क्रीम में क्लोट्रिमेज़ोल बीक्लोमेथासोन डिप्रोपियोनेट नियोमाइसिन सल्फेट घटक को मिलाया गया है,क्लोट्रिमेज़ोल एक एंटीफंगल घटक है,यह दवा खाज खुजली दाद को दूर करने में मदद करती है यह दवा त्वचा की सतह पर उपस्थित परजीवी तथा कवक को नष्ट कर देती है।

नियोमाइसिन सल्फेट एक एंटीबायोटिक दवा है जिसका उपयोग जीवाणुओं के इन्फेक्शन को दूर करने में किया जाता है। बीक्लोमेथासोन एक स्टेरॉयड है, जो त्वचा में होने वाली सूजन और खुजली को कम करने में मदद करती है।

इस दवा को प्रभावित स्थान पर प्रतिदिन 2 से लेकर 3 बार, 4 सप्ताह तक लगाना चाहिए।

clotrimazole beclomethasone dipropionate neomycin sulphate cream क्या है ।

इस क्रीम को क्लोट्रिमेज़ोल बीक्लोमेथासोन डिप्रोपियोनेट नियोमाइसिन सल्फेट घटक को मिलाया गया है,यह त्वचा व बाल के कवक संक्रमण,योनि मोनीलिएसिस , दाद , एग्जीमा , कांटेक्ट डर्मेटाइटिस , लाइकेन सिंपलैक्स , लाइकेन प्लेनस , गुदा व वल्वा की खुजली, त्वचा पर होने वाले संक्रमण को दूर करने में फायदेमंद है।

क्लोट्रिमेज़ोल स्थानीय कवकनाशक ( Local Antifungal ) ग्रुप में आने वाली दवा है, यह दवा  कवक कोशा की प्लाज्मा झिल्ली को नष्ट कर अर्गोस्टीरोल के संश्लेषण को कम करती है,यह त्वचा व बाल के कवक संक्रमण,योनि मोनीलिएसिस और दाद को दूर करने में मदद करती है,इसके इस्तेमाल से दाद , एग्जीमा और त्वचा मैं होने वाले संक्रमण को दूर किया जाता है।

यह किस प्रकार से अपना काम करती है।

इसमें उपस्थित घटक क्लोट्रिमेज़ोल  अपना काम कवक कोशा की प्लाज्मा झिल्ली को नष्ट कर अर्गोस्टीरोल के संश्लेषण को कम करके अपना काम करती है,इसमें उपस्थित दूसरा घटक neomycin sulphate एक एंटीबायोटिक दवा है जिसका उपयोग जीवाणुओं के इन्फेक्शन को दूर करने में किया जाता है।

यह एमिनोग्लाइकोसाइड्स नामक दवाओं के वर्ग में आने वाला घटक है,यह बैक्टीरिया के विकास को रोकने में मदद करता है,नियोमाइसिन सल्फेट का उपयोग आमतौर पर त्वचा और कान के संक्रमण के लिए किया जाता है,बीक्लोमेथासोन एक स्टेरॉयड है, जो त्वचा में होने वाली सूजन और खुजली को कम करने में मदद करती है,यह अत्यंत प्रभावकारी स्थानीय स्टीराइड है,इसका उपयोग त्वचा के सूजनयुक्त रोगों में किया जाता है ।

इसका का उपयोग । clotrimazole beclomethasone dipropionate neomycin sulphate cream uses in hindi

इसका उपयोग यह निम्नलिखित लक्षणों को दूर करने में किया जाता है जैसे

• एग्जिमा

• दाद

• खाज

• खुजली

• एथलीट

• फंगल त्वचा संक्रमण

• त्वचा व बाल के कवक संक्रमण

• योनि मोनीलिएसिस

यह सभी लक्षणों में इस क्रीम का इस्तेमाल किया जाता है।

इसके फ़ायदे । clotrimazole beclomethasone dipropionate neomycin sulphate cream uses

त्वचा व बाल के कवक संक्रमण को दूर करने में फायदेमंद

यह क्रीम त्वचा पर होने वाले संक्रमण को दूर करने में मदद करती है यह त्वचा पर होने वाले सभी प्रकार के संक्रमण को दूर करने में फायदेमंद है।

दाद को दूर करने में फायदेमंद

यह क्रीम त्वचा पर होने वाले दाद को दूर करने में मदद करती है यह त्वचा से संबंधित रोग है इसमें त्वचा पर लाल पड़ जाना,त्वचा पर खुजली होना जैसी समस्या होती है।यह क्रीम दाद को दूर करने में फायदेमंद है।इसके इस्तेमाल से शरीर पर होने वाले दाद को दूर करने में मदद मिलती है।

खुजली को दूर करने में फायदेमंद

यह क्रीम त्वचा पर होने वाले संक्रमण की वजह से होने वाली खुजली को दूर करने में मदद करती है इसके इस्तेमाल से खुजली से राहत मिलती है यह खुजली को दूर करने में फायदेमंद है।

एक्जिमा को दूर करने में फायदेमंद

एग्जिमा त्वचा सम्बन्धित रोग है इसमें त्वचा सूखी और त्वचा पर खुजली होना, लाल पड़ जाना जैसी समस्याएं होती हैं।यह ज्यादातर एलर्जी या वायरल इंफेक्शन के कारण होता है।यह क्रीम शरीर में होने वाले एग्जिमा को दूर करने में मदद करती है इसके इस्तेमाल एग्जिमा को दूर किया जा सकता है इसके इस्तेमाल से एग्जिमा को दूर करने में मदद मिलती है।

योनि के पास होने वाले संक्रमण को दूर करने में फायदेमंद

इसके इस्तेमाल से योनि के पास होने वाले संक्रमण को दूर करने में मदद मिलती है इसके इस्तेमाल से योनि मोनीलिएसिस को दूर किया जा सकता है।

फंगल को दूर करने में फायदेमंद

यह क्रीम शरीर में होने वाले फंगल इन्फेक्शन को दूर करने में फायदेमंद है इसके इस्तेमाल से शरीर में होने वाले फंगल इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिलती है इसके नियमित इस्तेमाल से को दूर किया जा सकता है।

इसका का उपयोग कैसे करें? ।

• इंफेक्शन वाली जगह पर इसे लगाने से पहले इंफेक्शन वाली जगह को हल्के साबुन और पानी से साफ कर के इसे सुखा लें।

• ऐसे थोड़ी मात्रा में लेकर इंफेक्शन वाली जगह पर हल्के हाथ से त्वचा पर मसाज करें।

• क्रीम को लगाने के बाद अपने हाथों को धो लें।

• डॉक्टर द्वारा बताई गई सही खुराक वा सही मात्रा का इस्तेमाल करें। डॉक्टर द्वारा बताई गई सही मात्रा का उपयोग करना आवश्यक होता है।

इसकी रचना ।

[table id=134 /]

इस क्रीम की रचना

इसकी खुराक ।

[table id=96 /]

इसे आमतौर पर दिन में दो बार त्वचा के प्रभावित क्षेत्र पर लगाया जाता है। इसे डॉक्टर द्वारा बताई गई निर्धारित मात्रा से अधिक उपयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसके ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा में जलन, लालिमा और त्वचा का पतला होना जैसे दुष्प्रभाव को देखा जा सकता है।

इसके नुकसान ।

इस क्रीम को लगाने पर यदि आपको यह साइड इफेक्ट दिखाई दे तो इस क्रीम को लगाना बंद कर दें और अपने डॉक्टर से सलाह लें जैसे

• त्वचा का पतला हो जाना

• त्वचा में जलन

• इंफेक्शन वाली जगह पर( खुजली, जलन और लाल हो जाना)

इससे संबंधित सावधानियां

• 2 वर्ष से छोटे बच्चे पर इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

• गर्भावस्था के दौरान इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

• स्तनपान के दौरान इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

निष्कर्ष

इस क्रीम का उपयोग त्वचा में होने वाले संक्रमण,योनि मोनीलिएसिस , दाद , एग्जीमा , कांटेक्ट डर्मेटाइटिस , लाइकेन सिंपलैक्स , लाइकेन प्लेनस , गुदा व वल्वा की खुजली, त्वचा पर होने वाले संक्रमण को दूर करने में किया जाता है।

इस दवा को प्रभावित स्थान पर प्रतिदिन 2 से लेकर 3 बार, 4 सप्ताह तक लगाना चाहिए,डॉक्टर द्वारा बताई गई सही खुराक वा सही मात्रा का इस्तेमाल करें।

इन्हें भी पढ़ें

जानिए डर्मिफोर्ड क्रीम का उपयोग,इसके फ़ायदे और नुकसान इसकी पूरी जानकारी

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top